BJP ने PDP के साथ ख़त्म किया गठबंधन

3 months ago Newspadho 0

बीजेपी ने मंगलवार को पीडीपी के साथ जम्मू और कश्मीर में गठबंधन ख़त्म कर लिया है जिसकी घोषणा पार्टी के प्रेसिडेंट अमित शाह ने किया । अमित शाह ने यह निर्णय बीजेपी के जम्मू और कश्मीर सरकार में शामिल मंत्रियो के कहने पर लिया है और इसकी सूचना पीडीपी को भी दी जा चुकी है । यह गढ़बंधन 2014 के चुनाव के बाद हुआ था जिसमे पीडीपी 28 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी थी और बीजेपी 25 सीटों के साथ दूसरी सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरकर सामने आयी थी । गठबंधन टूटने के तुरंत बाद जम्मू और कश्मीर के उप मुख़्यमंत्री ने मुख़्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती पर हमला बोला है और कहा है की महबूबा सीजफायर को बढ़ाना चाहती थी । गठबंधन ख़त्म होने के कयाश 2 महीने पहले से ही लगाए जा रहे थे जब कठुवा गैंगरेप की चार्ज शीट में गड़बड़ी को लेकर बीजेपी के जम्मू और कश्मीर के सरकार के मंत्री ने इस्तीफा दे दिया था । इस फैसले का राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अबुल्लाह ने स्वागत किया है ।

बीजेपी प्रेसिडेंट ने गठबंधन ख़त्म करने के बाद बीजेपी मंत्रियो की एक बैठक बुलाई है जिसमे बीजेपी में नेताओ के साथ साथ बीजेपी के मंत्री भी शामिल है जो सरकार में है । यह बैठक दिल्ली में बीजेपी के ऑफिस में चल रही है, बताया जा रहा है की बीजेपी इस बैठक में कई बड़े फैसले ले सकती है । बताया जा रहा है की रमजान ख़त्म होने के बाद पीडीपी को सुरक्षा बालो द्वारा आतंवादियो को मारने का जो अभियान शुरू किया गया है जिसकी वजह से बीजेपी ने यह गठबंधन ख़त्म कर लिया है । बताया जा रहा है की दिल्ली में हो रही बैठक इसी को लेकर की जा रही है और हो सकता है की बीजेपी आज कोई बड़ा फैसला भी ले । अमित शाह से NSA अजित डोवाल की मुलाकात हुई है जो की अमित शाह के घर पर हुई इस मुलाकात को कश्मीर से जोड़कर देखा जा रहा है । उप मुख्यमंत्री कवीन्द्र गुप्ता ने कहा है की बीजेपी पहले भी जम्मू और कश्मीर में अकेले चुनाव लड़ती थी और आगे भी लड़ेगी हलाकि बीजेपी के जम्मू और कश्मीर के अध्यक्ष रविंद्र रैना ने मीटिंग से पहले यह कहा है की यह मीटिंग 2019 के चुनाव के लेकर है और इसी पर चर्चा होनी है ।

रमजान ख़त्म होने के बाद सुरक्षा बालो ने 2 आतंकवादियों को मर गिराया है जिसके बाद घाटी में मौजूद आतंक समर्थित नेताओ में बेचैनी थी और उनका कहना था की रमजान में सर्च ऑपरेशन बंद होने से अच्छा सन्देश गया है और इसे आगे भी चलना चाहिए लेकिन केंद्रीय नेतृत्व ने इसे नकार दिया और ऑपरेशन जारी रखने का आदेश दे दिया ।